Karwa Chauth  करवा चौथ  2022

करवा चौथ पति-पत्नी के रिश्ते से जुड़ा सबसे बड़ा पर्व माना जाता है, जिसमें महिलाएं पति के लिए निर्जला उपवास करती हैं। शाम को पूजा करती हैं और चांद देखकर अपना उपवास खोलती हैं। हर साल बड़ी संख्या में देशभर से अधिकतर सुहागिन महिलाएं यह व्रत रखती हैं। इस बार करवा चौथ 13 अक्टूबर 2022 को मनाया जा रहा है।

Karwa चौथ का व्रत कब है 2022?

इस साल करवा चौथ का व्रत 13 अक्टूबर दिन गुरुवार को रखा जाएगा.

Karwa चौथ पूजा का शुभ मुहूर्त?

करवा चौथ के व्रत का शुभ मुहूर्त शाम पांच बजकर 46 मिनट से रहेगा।

Karwa चौथ पूजा का शुभ मुहूर्त?

हिंदू पंचांग के अनुसार इस साल कार्तिक मास की चतुर्थी तिथि 13 अक्टूबर को रात 1 बजकर 58 मिनट पर शुरू होगी और 14 अक्टूबर को सुबह 3 बजकर 7 मिनट पर समाप्त होगी.

करवा चौथ पूजन विधि

करवा चौथ के दिन सुबह स्नान आदि करने के बाद साफ-सुथरे वस्त्र पहनें. इसके बाद मंदिर में जाकर पूजा करें और निर्जला व्रत का संकल्प करें. करवा चौथ पर पूरे दिन महिलाएं अन्न-जल ग्रहण नहीं करतीं. शाम के समय पूजा स्थल पर एक चौकी पर लाल कपड़ा बिछाएं और उस पर भगवान की मूर्ति स्थापि करें. इसके बाद वहां एक मिट्टी का करवा और एक मीठा करवा रखें. फिर व्रत कथा पढ़ें और ध्यान रखें इस दिन एक नहीं दो कथाएं पढ़नी चाहिए. रात को चंद्रमा निकलने बाद अर्घ्य दें और व्रत का पारण करें. करवा चौथ के दिन महिलाएं अपनी सास व अपने से बड़े को कपड़े व भोजन देती हैं और ऐसा करना शुभ माना जाता है.

करवा चौथ की शुभकामनाएँ

करवा चौथ का दिन हैं! तुम्हारी यादों से भरे है हम! तुम बिन ज़िन्दगी कितनी बेरंग होगी! ये सोच के कई बार डरे है हम!

करवा चौथ की शुभकामनाएँ

जोड़ी मेरी तेरी कभी टूटे ना! तुम और मैं कभी रूठे ना! हम तुम 7 जन्म साथ निभाएंगे! हर पल की मिलकर खुशियाँ मनाएंगे

करवा चौथ की शुभकामनाएँ

सनम दिल से ना जाना दूर, ये बात अपने दिल को कह दो! पिला के अपने हाथो से पानी व्रत पूरा हमारा कर दो!

आप सबको  करवा चौथ  की  शुभकामनाएँ